Monday, 15 July 2013

Anjaan Safar !!



ज़िंदगी की किताब में हर लफ्ज़ बेगाना था,
रास्ते तो मालूम थे पर मंज़िल का ना ठिकाना था,
लड़ते रहे हम तूफ़ानो से बेउंमीद,
साहिल को छू सकेंगे इस सवाल का जवाब ना था !!

Zindagi ki kitaab mein har lafz begana tha,
Raste to maloom the par manzil ka na thikana tha,
Ladte rahe hum toofano se beummeed,
Sahil ko chhoo sakenge iss sawal ka jawab na tha !!

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...